Tagged: विश्वशांति महायज्ञ

0

यज्ञ एवम उसके प्रकार

यज्ञ एवम उसके प्रकार यज्ञ का तात्पर्य है- त्याग, बलिदान, शुभ कर्म। अपने प्रिय खाद्य पदार्थों एवं मूल्यवान् सुगंधित पौष्टिक द्रव्यों को अग्नि एवं वायु के माध्यम से समस्त संसार के कल्याण के लिए यज्ञ...