Tagged: पुरुषोत्तम मास माहात्म्य अध्याय ३

0

पुरुषोत्तम मास माहात्म्य – अध्याय 6

पुरुषोत्तम मास माहात्म्य अध्याय – 06 पुरुषोत्तमविज्ञप्तिर्नाम  नारदजी बोले – भगवान् गोलोक में जाकर क्या करते भये, हे पापरहित! मुझ श्रोता के ऊपर कृपा करके कहिये ॥ श्रीनारायण बोले – हे नारद! पापरहित! अधिमास...

0

पुरुषोत्तम मास माहात्म्य – अध्याय 5

पुरुषोत्तम मास माहात्म्य अध्याय ५ – विष्णोर्गोलोकगमने नारद जी बोले – हे महाभाग! हे तपोनिधे! इस प्रकार अधिमास के वचनों को सुनकर हरि ने चरणों के आगे पड़े हुए अधिमास से क्या कहा ॥...

0

पुरुषोत्तम मास माहात्म्य – अध्याय ४

पुरुषोत्तम मास माहात्म्य अध्याय ४ – मलमास विज्ञप्तिर्नाम श्रीनारायण बोले – हे नारद! भगवान् पुरुषोत्तम के आगे जो शुभ वचन अधिमास ने कहे वह लोगों के कल्याण की इच्छा से हम कहते हैं, सुनो...

0

पुरुषोत्तम मास माहात्म्य अध्याय ३

पुरुषोत्तम मास माहात्म्य अध्याय ३ – अधिमासस्य वैकुण्ठमापणं ऋषिगण बोले – हे महाभाग! नर के मित्र नारायण नारद के प्रति जो शुभ वचन बोले वह आप विस्तार पूर्वक हमसे कहें ॥ सूतजी बोले –...