Tagged: अध्याय-24

0

श्रावण मास माहात्म्य – अध्याय-24 (कृष्णावतार महासेन की कथा)

श्रावण मास माहात्म्य – अध्याय-24 (कृष्णावतार महासेन की कथा) शिव बोले-हे सनत्कुमार! पूर्व काल में राक्षसों के अत्याचार से दुःखित हो पृथ्वी श्री ब्रह्माजी के पास गई| उसकी पुकार सुन कर ब्रह्माजी श्रीरसागर में...