Gyan Wiki Blog

0

गणपति गायत्री शाबर महामंत्र

गणपति गायत्री शाबर महामंत्र “सत नमो आदेश। गुरूजी को आदेश। ओम् गुरुजी। मूल चक्र में करे जो वास,परसो परम ज्योति प्रकाश ।। गणपति स्वामी सन्मुख रहे,सुध्दि बुध्दि निर्मली गहे ।। गमकी छोड़ अगमकी कहे,सतगुरू...

0

श्रावण मास माहात्म्य – अध्याय-30 (श्रावण मास का माहात्म्य फल)

श्रावण मास माहात्म्य – अध्याय-30 (श्रावण मास का माहात्म्य फल) शिव बोले-हे पुत्र! मैंने जो तुम्हें श्रावण मास का माहात्म्य बतलाया है वह दूसरा कोई एक शाताब्दी में भी नहीं कर सकता है| सती...

0

श्रावण मास माहात्म्य – अध्याय-29 (श्रावण कब व क्यों करें?)

श्रावण मास माहात्म्य – अध्याय-29 (श्रावण कब व क्यों करें?) भगवान शिव बोले-हे सनत्कुमार! अब मैं तुम्हें श्रावण मास में किये जाने वाले कार्य विधिपूर्वक बतलाता हूं| कौन सा कार्य, कब किया जाना चाहिए,...

0

श्रावण मास माहात्म्य – अध्याय-28 (अगस्त्य- अर्घ्य की विधि)

श्रावण मास माहात्म्य – अध्याय-28 (अगस्त्य- अर्घ्य की विधि) भगवान शिव बोले-हे पुत्र! अब मैं तुम्हें अगस्त्य-अर्घ्य विधि पूर्वक कहता हूँ| यह समस्त मनोकांक्षाओं को पूर्ण करने वाला है| अगस्त्य के उदय से पूर्व...

0

श्रावण मास माहात्म्य – अध्याय-27 (श्रावण में करने योग्य कार्य)

श्रावण मास माहात्म्य – अध्याय-27 (श्रावण में करने योग्य कार्य) भगवान शिव बोले- हे सनत्कुमार! अब आगे मैं तुम्हें श्रावण मास में कर्क, सिंह व संक्रांति होने पर जो भी कार्य किए जाते हैं,...

0

श्रावण मास माहात्म्य – अध्याय-26 (श्रावण अमावस्या )

श्रावण मास माहात्म्य – अध्याय-26 (श्रावण अमावस्या ) भगवान शिव बोले-हे सनत्कुमार! श्रावण मास की अमावस्या को जो कुछ किया जाता है| वह मैं तुम्हें बतलाता हूँ| पूर्व काल में मैंने अनेक बार रमणीय...