Gyan Wiki Blog

0

शिव पंचाक्षरी मंत्र साधना – सर्व मनोकामना प्रदत्त

“नमः शिवाय” ‘नमः शिवाय’ मंत्र बहुत ही सीधा, सरल एवं सर्वगम्य यह मंत्र तेजस्वी एवं अत्यधिक प्रभावयुक्त क्रम में है | यह पंचाक्षर मंत्र अल्पाक्षर होते हुए भी अपने गहनतम अर्थों को समाहित किए...

0

श्रावण मास माहात्म्य – चतुर्थ अध्याय (धरण-परण व्रत)

श्रावण मास माहात्म्य चतुर्थ  अध्याय (धरण-परण व्रत) भगवान शिव बोले-हे सनत्कुमार! अब मैं तुम्हें धारण- पारण व्रत के बारे में विस्तार से बतलाऊंगा| उसे आप मन लगाकर सुनें| धारण में व्रत व पारण में...

0

श्रावण मास माहात्म्य – तृतीय अध्याय (नक्त व मौन व्रत का फल)

श्रावण मास माहात्म्य तृतीय अध्याय (नक्त व मौन व्रत का फल) सनत्कुमार बोले-हे प्रभु! आप इस श्रावण माहात्म्य के बारे में विस्तार से बतलायें| तब शिव बोले-हे महाभाग! जो श्रावण मास ‘नक्त-व्रत’ करे व्यतीत...

0

श्रावण मास माहात्म्य – द्वितीय अध्याय (श्रावण मास में नियम पालन का महत्व)

श्रावण मास माहात्म्य द्वितीय अध्याय (श्रावण मास में नियम पालन का महत्व) शिव बोले-हे सनत्कुमार! आप अत्यंत विनम्र हैं| आपने जो कुछ मुझसे श्रावण-मास के बारे में जानना चाहा है, वह अब मैं तुम्हें...

0

श्रावण मास माहात्म्य – प्रथम अध्याय ( शिव-सनत्कुमार संवाद )

श्रावण मास माहात्म्य  प्रथम अध्याय ( शिव-सनत्कुमार संवाद ) शौनक ऋषि बोले-हे सूतजी ! आपके द्वारा कही गई कथाओं से मुझे पूर्ण संतुष्टि नहीं हुई| अतः आप कुछ अन्य कथाएं मुझे सुनायें जिससे मेरी...

0

श्रावण मास का आध्यात्मिक महत्त्व….महादेव को प्रिय सावन

श्रावण का अर्थ है श्रवण करने का समय ! अर्थात एक ऐसा पवित्र समय जिसमे केवल और केवल भगवन के नामों के श्रवण मात्रा से ही मनुष्य के जीवन में अर्जित संपूर्ण पापों से...