Category: Mantra Tantra Yantra

0

गणपति गायत्री शाबर महामंत्र

गणपति गायत्री शाबर महामंत्र “सत नमो आदेश। गुरूजी को आदेश। ओम् गुरुजी। मूल चक्र में करे जो वास,परसो परम ज्योति प्रकाश ।। गणपति स्वामी सन्मुख रहे,सुध्दि बुध्दि निर्मली गहे ।। गमकी छोड़ अगमकी कहे,सतगुरू...

0

शिव पंचाक्षरी मंत्र साधना – सर्व मनोकामना प्रदत्त

“नमः शिवाय” ‘नमः शिवाय’ मंत्र बहुत ही सीधा, सरल एवं सर्वगम्य यह मंत्र तेजस्वी एवं अत्यधिक प्रभावयुक्त क्रम में है | यह पंचाक्षर मंत्र अल्पाक्षर होते हुए भी अपने गहनतम अर्थों को समाहित किए...

0

श्रीरुद्रयामले अंतर्गत-महाविद्या कवचम्

॥ ॐ गं गणपतये नमः ॥ ॥ मानसपुजनम् ॥ ॐ पृथ्वीतत्त्वात्मकं गन्धं श्रीमहाविद्याप्रीत्यर्थे समर्पयामि नमः । ॐ हं आकाशतत्त्वात्मकं पुष्पं श्रीमहाविद्याप्रीत्यर्थे समर्पयामि नमः । ॐ यं वायुतत्त्वात्मकं धूपं श्रीमहाविद्याप्रीत्यर्थे आघ्रापयामि नमः । ॐ रं...

0

श्री भैरवी तंत्र अंतर्गत- श्री श्री महाविद्या महास्रोतम (सप्रयोग)

श्री श्री महाविद्यास्तोत्रम्-सप्रयोग महादेव के समीप में इस महाविद्यास्तोत्र के इक्कीस बार पाठ करने से सिद्धि प्राप्त होती है। चाहे वह स्त्री हो या पुरुष उसके सभी पाप नष्ट हो जाते हैं । दुष्टों...

0

डामरतन्त्रे अंतर्ग़ते -श्री सिद्धकुंजिकास्रोत

डामरतन्त्रे अंतर्ग़ते -श्री सिद्ध कुंजिका स्रोत   ॐ अस्य श्रीकुञ्जिकास्तोत्रमन्त्रस्य सदाशिव ऋषिः, अनुष्टुप् छन्दः , श्रीत्रिगुणात्मिका देवता , ॐ ऐं बीजं,ॐ ह्रीं शक्तिः, ॐ क्लीं कीलकम् मम सर्वाभीष्टसिद्ध्यर्थे जपे विनियोगः । शिव उवाच शृणु देवि...

0

मंत्र साधन के आवश्यक नियम

मंत्रों की शक्ति असीम है, यदि साधना काल में नियमों का पालन न किया जाए तो कभी-कभी बड़े घातक परिणाम सामने आ जाते हैं। प्रयोग करते समय तो विशेष सावधानी बरतनी चाहिए। मंत्र उच्चारण...