Category: Bhakti – Ras

0

श्रावण मास माहात्म्य – अष्टम अध्याय (बुध-बृहस्पतिवार की व्रत कथा)

श्रावण मास माहात्म्य अष्टम अध्याय (बुध-बृहस्पतिवार की व्रत कथा) शिव बोले – हे सनत्कुमार! अब मैं तुम्हें बुध तथा बृहस्पतिवार व्रत के संदर्भ में बतलाता हूँ | इस व्रत को नियम, भक्ति और श्रद्धा...

0

श्रावण मास माहात्म्य – सप्तम अध्याय (मंगलवार और मंगला गौरी की व्रत कथा)

श्रावण मास माहात्म्य सप्तम अध्याय (मंगलवार और मंगला गौरी की व्रत कथा) भगवान शिव बोले-हे ब्रह्मा पुत्र! अब मैं तुम्हें श्रवण के मंगलवार व्रत की कथा सुनाता हूँ| तुम एकाग्र भाव से सुनो |...

0

श्रावण मास माहात्म्य – षष्ठ अध्याय (सोमवार की व्रत कथा)

श्रावण मास माहात्म्य षष्ठ अध्याय (सोमवार की व्रत कथा) सनत्कुमार बोले-हे भगवान्! आपने अति उत्तम माहात्म्य सुनाया है| अब आप मुझे श्रावण मास के सोमवार की व्रत कथा भी सुनायें | शिव बोले –...

0

श्रावण मास माहात्म्य – पंचम अध्याय ( लिंग पूजन व रविवार व्रत कथा )

श्रावण मास माहात्म्य पंचम अध्याय ( लिंग पूजन व रविवार व्रत कथा ) भगवान शिव बोले-हे सनत्कुमार इस श्रावण मास में एकलिंग की स्थापना से ही भक्त को मेरा सामिप्य प्राप्त हो जाता है...

0

श्रावण मास माहात्म्य – चतुर्थ अध्याय (धरण-परण व्रत)

श्रावण मास माहात्म्य चतुर्थ  अध्याय (धरण-परण व्रत) भगवान शिव बोले-हे सनत्कुमार! अब मैं तुम्हें धारण- पारण व्रत के बारे में विस्तार से बतलाऊंगा| उसे आप मन लगाकर सुनें| धारण में व्रत व पारण में...

0

श्रावण मास माहात्म्य – तृतीय अध्याय (नक्त व मौन व्रत का फल)

श्रावण मास माहात्म्य तृतीय अध्याय (नक्त व मौन व्रत का फल) सनत्कुमार बोले-हे प्रभु! आप इस श्रावण माहात्म्य के बारे में विस्तार से बतलायें| तब शिव बोले-हे महाभाग! जो श्रावण मास ‘नक्त-व्रत’ करे व्यतीत...