Category: Bhakti – Ras

0

शिव पुराण के श्रवण मात्र से शिवलोक कि प्राप्ति – पौराणिक इतिहास

शिव पुराण के केवल श्रवण से शिवलोक प्राप्ति सबसे आसान है शिव को प्रसन्न करना शिव-पुराण कथा के अनुसार शिव ही ऐसे भगवान हैं, जो शीघ्र प्रसन्न होकर अपने भक्तों को मनचाहा वर दे...

0

श्री शिवपुराण माहात्म्य – श्रवण की विधि तथा नियमों का वर्णन

श्री शिवपुराण – माहात्म्य शिवपुराण के श्रवण की विधि तथा श्रोताओं के पालन करने योग्य नियमों का वर्णन शौनकजी कहते है – महाप्राज्ञ व्यासशिष्य सूतजी ! आपको नमस्कार है | आप धन्य हैं, शिवभक्तो...

0

श्रावण मास माहात्म्य – द्वादश अध्याय (स्वर्ण गौरी व्रत)

श्रावण मास माहात्म्य द्वादश अध्याय (स्वर्ण गौरी व्रत) शिव बोले-हे वत्स! अब मैं तुम्हें श्रावण मास के शुक्ल पक्ष में आने वाली तृतीया तिथि को किए जाने वाले उत्तम तथा पवित्र ‘स्वर्ण-गौरी व्रत’ के...

0

श्रावण मास माहात्म्य – एकादश अध्याय (तिथि व्रत का माहात्म्य)

श्रावण मास माहात्म्य एकादश अध्याय (तिथि व्रत का माहात्म्य) भगवान शिव से सनत्कुमार ने कहा-हे प्रभु! अब मैं आपके श्री मुख से श्रावण मास में आने वाली तिथियों का माहात्म्य जानना चाहता हूँ| शिव...

0

श्रावण मास माहात्म्य – दशम अध्याय (शनिवार की व्रत कथा)

श्रावण मास माहात्म्य दशम अध्याय (शनिवार की व्रत कथा) भगवान शिव बोले-हे सनत्कुमार! अब मैं तुम्हें शनिवार व्रत की कथा कहता हूँ| उससे मन्दता दूर हो जाती है| इस महीने में वीर हनुमान, नृसिंह...

0

श्रावण मास माहात्म्य – नवम अध्याय (शुक्रवार की व्रत कथा)

श्रावण मास माहात्म्य  नवम अध्याय (शुक्रवार की व्रत कथा) शिव बोले – हे सनत्कुमार! अब मैं तुम्हें शुक्रवार व्रत की कथा सुनाता हूं| ध्यानपूर्वक सुनों क्योंकि उसके श्रवण मात्र से ही प्राणी मरणोपरांत भव-बन्धन...